मुख्य आलेख..!:


Friday, February 19, 2010


"घर को आग लगा दी घर के ही चिराग ने" जी हाँ जहां एक और राहुलगाँधी पुरे देश मैं कांग्रेस की बहुमति लाने के सपने देख रहे है और वो सपना पूरा करने की जी तोड़ कोसिस भी कर रहे है वही दूसरी और कोंग्रेस के सब से कमजोर कहे जाने वाले राज्य गुजरात मैं कोंग्रेस का हाल और भी बुरा होता जा रहा है.

गुजरात कोंग्रेस मैं फिल हाल घमशान छिडा हुआ है..जैसा हाल केंद्र मैं भाजपा का है वोही हाल कांग्रेस का गुजरात मैं है.गुजरात मैं काग्रेस प्रमुख बन्ने की लडाई तेज हो गई है...एक और दलित कार्यकरो ने मोर्चा खुला हुआ है है वही दूसरी और लघुमति कांग्रेसी कार्यकरो ने कांग्रेस सिर्सस्थ नेता गिरी के खिलाफ अपनी तलवार तान दी है..

कांग्रेस के दलित कार्यकर लम्बे समय से उपेक्षित होने का आभास कर रहे हैं..कांग्रेस के दलित कार्यकर तो यहाँ तक आक्षेप कर रहे है की उन्हें सिर्फ चुनाव के वक्त याद किया जाता रह है..चुनाव ख़त्म होते ही उन्हें दूध मैं गिरी माखी की तरह निकाल बाहर फैंक दिया जाता है.. अब कोई दलित कांग्रेस से संतुस्ट नहीं है..यही वजह है की दलितों ने गुजरात कांग्रेस की खिलाफ बगावत कर दी है..आज जगह जगह दलित समेलन कर के गुजरात कांग्रेस मैं दलितों को हो रहे अन्याय के बारे मे बताया जा रह है.आने वाले दिनों मैं ये बगावत और भी बुलन्द करने का आह्वाहन ये दलित कार्यकर कर रहे है..कांग्रेस के ही एक दलित नेता बताते है की ऐसा कुछ भी नहीं है.. किन्तु कांग्रेस के ही एक विधायक हैं जो कांग्रेस आलाकमान के बहुत नजदीक माने जाते है वो पक्ष प्रमुख बनना चाह रहे है सो उन्हों ने ही दलितों को भड़काया हुआ है..वो गुजरात कांग्रेस प्रमुख के तौर तरीको से नाराज है और खुद को उपेक्षित मान रहे है..

यहाँ ये बात बहुत ही ध्यान आकर्षक है की राहुल गाँधी दलितों को अपने पक्ष मैं लाने की मुहिम छेडे हुए है,वही गुजरात कांग्रेस मैं दलितों ने बगावत की है..बात जो भी हो लेकिन वार सोच समज कर किया गया है की आन्दोलन छिड़ते ही कांग्रेस का आलाकमान मुस्किल मैं आजाये.

अब बात लघुमति ओ की,, सो उन्हों ने भी कांग्रेस आला कमान के खिलाफ बगावत की है यूँ की मुस्लिम वोटर्स बरसो से ही कांग्रेस से जुड़े हुए रहे हैं सो उनकी बगावत भी बहुत महत्त्व पूर्ण है..यहाँ भी आक्षेप वो ही हो रहे है के कांग्रेस के कुछ विधायको ने ही उन्हें भड़काया हुआ है..बात जो भी हो लेकिन लघुमति कांग्रेसी कार्यकारो की एक बात तो सही है की लम्बे समय से कोई मुस्लिम नेता या कार्यकर गुजरात कांग्रस के शीर्ष पदों पे नहीं है..

कांग्रेस आलाकमान भी इन दो तबको की बगावत से सदमे मैं है सो उन्हों ने डेमेज कण्ट्रोल के लिए आननफानन मैं सुधाकर रेड्डी को गुजरात भेज दिया था लेकिन वो भी सब कुशल मंगल का राग आलाप के चले गए.. लेकिन गुजरात कांग्रेस मैं कुछ कुशल मंगल नहीं है..दलित और लघुमति बगावत तो एक जरिया है असल बात कुछ और है.. गुजरात कांग्रेस दरअसल ४ खेमो मैं बाटी हुए है.एक मूल कांग्रेसी खेमा है दूसरा जनतादल खेमा है तीसरा शंकर सिंह का खेमा है और ४ नवयुवान खेमा है, ये ४ खेमे अपनी अपनी और कांग्रेस को खीच रहे है..गुजरात कोंग्रेस के नेता जायदातर कोई न्यूज़ चैनल के स्टूडियो मैं दिखाई देते है या फिर कोई जाने माने उद्योगपतियो की पार्टियों मैं.और कांग्रेसी कार्यकर अपने अपने गुट के नेता की पगचम्पी करने मैं लगा हुआ है.किसी को गुजरात की समस्या गुजरात के विकास की और ध्यान नहीं देना बस नेता ही बनजना है.. गुजरात कांग्रेस के नेता इ.सी चेम्बर मैं बैठ के मिनरलवाटर के घूंट लगाते-लगाते गुजरात के गाँव मैं हो रही पानी की समस्याओ के बारे मैं सोच रहे है..तो कोई कांग्रेसी नेता अपनी आलाकमान से नजदिकिया बढ़ने मैं लगा हुआ है..अब ऐसे मैं कांग्रेस का भला कैसे हो शकता है.और गुजरात की जनता भी उनके बारे मैं कैसे सोचे.?

किसी को गुजरात मैं भाजपा को हराने की नहीं पड़ी सब को सताधिस ही होना है.किसी को कार्यकर नहीं बनना.. अब ऐसे मैं नरेन्द्रमोदी हेट्रिक न ही करे तो अचम्भा होगा.. गुजरात बीजेपी को बीना कुछ किये ही जित पे जित मिल रही है,और मोदी जी के गुण गान गए जा रहे है, सच बात तो ये है की गुजरात मैं कोई मजबूत विपक्ष है ही नहीं लिहाजा गुजरात की जनता जाये तो जाये कहाँ.बुरा तो हर कोई है पसंद हम को जो कम बुरा हो उसे करना है.. सो गुजरात की जनता भी वो ही कर रही है...

जब तक गुजरात मैं कोई मजबूत विपक्ष नहीं होगा तबतक गुजरात मैं मोदी जी चैन की बंशी बजाते रहेंगे.. फ़िलहाल देखना ये होगा की गुजरात कांग्रेस मैं फिलहाल सुलग रहे इस ज्वालामुखी से कांग्रेस मैं कोई नया प्राण संचार या बड़ा बदलाव होता है की जो गुजरात भाजप को मुश्किल मैं डाल दे,या फिर उ.प. की तरह यहाँ भी राहुल बाबा को ही अवतार लेना होगा...!!!!!!!!!

4 comments:

  1. nice click n i know u cant do it :) baki badhu gud che :)

    ReplyDelete
  2. thank you both of u...

    ReplyDelete
  3. Good Artical DILIP...Yes I m completely Agree With U that GUJARAT need A good Leader and A Strong Opposition In Assembly.......Good Artical Dost...

    ReplyDelete